Top 5 Stories in Hindi – मोटिवेशनल और इन्स्परेशनल कहानियाँ

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on pinterest

ज़िन्दगी के कई रंग होते है जिन्हे हम ख़ुशी, गम और आंसू के नाम से जानते है. हमें अक्सर life में उतार-चढ़ावो का सामना करना पड़ता है. कभी ऐसे मोड़ भी आते है की हम हिम्मत हार जाते है, कभी उनका मुक़ाबला डटकर करते है. जीवन में हमें ऐसे inspirational कहानियों से प्रेरित रहना चाहिए जो हमें motivate करे. आज हम आपके लिए ऐसे ही कुछ inspirational Short Stories in Hindi लेकर आये है जो आपको Motivate करेगी.

Stories in hindi

Motivational Stories in Hindi

जीवन में कई बार हमें motivation की जरुरत पड़ती है. Stories in hindi ना सिर्फ आपको motivate करेगी बल्कि जीवन को एक नए तरीके से देखने के लिए भी inspire करेगी. ये kahaniya आपको हताश और निराश नहीं होने देगी.

1. life में सबकी अपनी कहानी होती है

एक 24 साल का युवा लड़का ट्रेन की खिड़की से बाहर देख कर ख़ुशी से चिल्लाता है ” पापा देखो, पेड़ कितनी तेज़ी से पीछे जा रहे है”

stories in hindi

उसके पापा मुस्कुराते है पर उनके पास बैठा एक couple 24 साल के लड़के का बचकाना व्यवहार देख रहे थे, तभी लड़का फिर से बोला पापा

देखो, बादल हमारे साथ चल रहे हैं!”

ये सब एक Young Couple देख रहा था. वो लड़के के पिता से बोले, आप अपने बेटे को किसी अच्छे डॉक्टर के पास क्यों नहीं लेकर जाते हैं?”

उनकी इस बात पर उसके पिता मुस्कुराहट के साथ बोले … “मैंने ऐसा किया और हम अभी अस्पताल से ही वाप

स आ रहे हैं, दरअसल मेरा बेटा जन्म से अंधा था, उसे आज ही उसकी आँखे मिली है.”

हर एक व्यक्ति की अपनी कहानी है. तब तक लोगों के बारे में राय ना बनाये जब तक आप उनके बारे में जानते न हो.

2. बदलाव की शुरुआत – Hindi Kahani

hindi stories

एक युवक सुबह दौड़ने के लिए जाया करता था. वो हर बार आते जाते एक बूढी महिला को देखता था. बूढी औरत तालाब के किनारे छोटे छोटे कछुओ की पीठ को साफ़ करती थी.

एक दिन वो लड़का बूढी औरत के पास गया और बोला ” नमस्ते आंटी. मैं रोज़ आपको इन कछुओं की पीठ

को साफ़ करते हुए देखता हूँ. आपके ऐसा करने के पीछे क्या कारण है?” बूढी महिला ने मासूम से लड़के को जवाब दिया ” मैं हर रविवार यंहा आती हूँ और इन कछुओं की पीठ साफ़ करके मुझे सुख शांति का अनुभव होता है.” कछुओं की पीठ पर ये जो मज़बूत कवच होता है उस पर कचरा जमा हो जाता है. इसकी वजह से इनकी गर्मी पैदा करने की क्षमता कम होने लगती है इसलिए इन्हे तैरने में मुश्किल होती है. अगर ऐसा ही रहे तो ये कवच भी कमजोर हो जाता है इसलिए कवच को साफ़ करती हूँ.

यह सुनकर लड़का हैरान हुआ|. उसने फिर एक सवाल किया और बोला “आप बहुत अच्छा काम कर रहे है लेकिन फिर भी एक बात सोचिये कि इन जैसे कितने कछुवे है जो इनसे भी बुरी हालत में है. आप सभी के लिए ये नहीं कर सकते तो उनका क्या? आपके अकेले के बदलने से तो कोई बदलाव नहीं आयेगा न.

बूढी महिला ने वहुत प्यारा और असरदार जवाब दिया. भले ही दुनिया में मेरे इस छोटे से काम से कोई बड़ा बदलाव नहीं होगा पर इस कछुए कि ज़िन्दगी में तो बदलाव होगा ना. तो क्यों ना हम छोटे बदलाव से ही शुरुआत करें |

3. हाथी का फंदा – Hindi Story

hindi storyएक बार एक व्यक्ति हाथियों के पास से गुजर रहा था तभी वो रुक गया और सोच में पड़ गया. कैसे इतने बड़े जीव को उसके पैर में एक मामूली सी रस्सी डालकर बांधा गया है. ये एक साधारण बात है की इतना बड़ा हाथी इस छोटी सी रस्सी को कभी भी तोड़ कर आज़ाद हो सकता है, पर वो ऐसा क्यों नहीं कर रहा है.

उस आदमी ने पास ही मौजूद ट्रेनर से जाकर पूछा की अभी तक इस हाथी ने भागने की कोशिश क्यों नहीं की? ट्रेनर ने जवाब दिया की ये हाथी अभी बहुत छोटा है और इसे बांधने के लिए इसी साइज की रस्सी का इस्तेमाल करते है. साथ ही ट्रेनर बोलता है की हाथी को ये विश्वास है की उसे रस्सी नहीं तोड़ी जा सकती इसलिए उसने कभी रस्सी तोड़ने की कोशिश भी नहीं की है.

वो व्यक्ति ये देख हैरान हो गया की ये जानवर कभी भी रस्सी तोड़ आज़ाद हो सकता है पर उसे लगता है वो नहीं कर सकता इसलिए यहाँ पर कैद है.

बिलकुल हाथी कि तरह ही हम इंसान भी एक नाकामयाबी के बाद ये मानकर बैठ जाते है कि हम नहीं कर सकते है.

4. आलू, अंडे और Coffee Beans – Story in Hindi

stories in hindi

एक बार कि बात है एक बेटी अपने पिता से शिकायत करती है कि उसकी ज़िन्दगी दुखी हैं. वो हमेशा ही मुसीबत से लड़ती रहती है. एकProblem सुलझती नहीं दूसरी आ जाती है.

उसके पिता उसे रसोई में ले जाते है और वो तीन बर्तन पानी से भरकर तेज़ आंच पर रखते है. अब तीनो बर्तन का पानी उबलने लगता है.  उसके पिता एक बर्तन में आलू, दूसरे में अंडे और तीसरे में कॉफ़ी बीन्स डालते है.

अब दोनों आराम से बैठ जाते है पर बेटी सोच रही होती है कि पापा ये क्या कर रहे है? उसके पिता 20 मिनट बाद गैस बर्नर बंद कर देते है. बो आलू और अंडो को एक बर्तन में निकालते है और कॉफ़ी को कप में डालते है.

अब वो अपनी बेटी से पूछते है की तुम क्या देख रही हो? बेटी ने जवाब दिया, आलू, अंडे और कॉफ़ी.

पिता ने कहा, ध्यान से देखो और आलू को छू कर देखो. बेटी ने वैसा ही किया और पाया आलू नरम हो गए. ऐसा ही फिर अंडो के साथ किया. पिता ने बेटी से अंडा तोड़ने को कहा पर उसने देखा अंडा पहले से कठोर हो गया है. अंत में पिता बोले एक बार कॉफ़ी Taste करो.

बेटी अपने पिता से पूछती है, इन सबसे आपका क्या मतलब है?

आखिर में पिता बोलते है की आलू, अंडो और कॉफ़ी तीनो ने ही एक ही हालात का सामना किया लेकिन इसका असर तीनो पर अलग हुआ.

आलू पहले मज़बूत और कठोर था पर उबलते पानी में वो कोमल और कमज़ोर बन गया दिया.

अंडा जो पहले कोमल था, उबलते पानी में से अंडे मजबूत बनकर उभरे

Coffee Beans पानी में जा कर इस तरह घुल गई और उसने पानी को ही नया रूप दे दिया. पानी से coffee को अलग करना नामुमकिन हो गया

पिता ने अपनी बेटी से पूछा, अब इसमें से तुम कौन हो? जब मुसीबत दरवाज़ा खटखटाती है तो आप आलू, अंडा या कॉफ़ी किस तरह उसका सामना करोगे?

जीवन में, हमारे चारों ओर होने वाली चीजें, हमारे साथ होती हैं, लेकिन केवल एक चीज जो वास्तव में मायने रखती है की हम उनका सामना कैसे करते है

5. A Dish Of Ice Cream – Kahani in Hindistories in hindi

ये उस समय की बात है जब Ice cream की कीमत बहुत कम थी. 10 साल का लड़का एक होटल के Coffee Shop में गया और एक table पर बैठ गया। एक वेट्रेस ने उसके सामने पानी का गिलास रखा।

“एक आइसक्रीम कितना की है?” बच्चे ने पूछा

वेट्रेस ने जवाब दिया, “50 सेंट्स”

छोटे बच्चे ने अपनी जेब से हाथ बाहर निकाला और पैसे की गिनती करने लगा।

उन्होंने पूछा, “प्लेन आइसक्रीम कितने की है?” होटल में कुछ लोग table के लिए इंतजार कर रहे थे और वेट्रेस थोड़ी चिड़चिड़ी हुई।

“35 सेंट,” उसने बेरुखी से कहा

छोटे लड़के ने फिर सिक्कों की गिनती शुरू कर दी। बच्चे ने plain ice cream का order दिया.

वेट्रेस ने गुस्से के साथ ice cream लाई, मेज पर बिल रखा और चली गई। अब लड़के ने आइसक्रीम खा कर, बिल pay किया और चला गया.

जब वेट्रेस वापस आई तो उसने Table को साफ़ करना शुरू किया और फिर उसने जो देखा उसका सारा गुस्सा गायब हो गया।

वो बच्चा खाली प्लेट के पास 15 सेंट रख कर गया था जो वेट्रेस के लिए Tip थी.

कहानी का शीर्षक है कि हमें किसी को भी छोटा नही समझना चाहिए. इंसान का अंदाज़ा उसके कपड़ो से नहीं उसके दिल से लगाना चाहिए

आपको Stories in Hindi पसंद आया होगा. ये चुनिंदा वो short stories है जो आपको हर कदम पर Motivate  करेगी.

 

Facebook पर like करने के लिए click here.

Leave a Replay

Leave a Comment

Sign up for our Newsletter